Uncategorized

गृह-क्लेश से मिलें छुटकारा

सावन में कीजिए ये उपाय

शिव-पार्वती को आदर्श दाम्पत्य का प्रतीक माना जाता है और शीघ्र विवाह, सुयोग्य वर प्राप्ति के लिए मंगला-गौरी व्रत किया जाता है। शिव की साधना से गृह-क्लेश से छुटकारा भी मिलता है और दाम्पत्य में मिठास घुल जाती हे। पति-पत्नी के बीच अनबन रहती है, अकारण उत्तेजना से परिवार में उपद्रव हो जाते हैं, सास-बहु में कटुता या लडाई-झगडे होते हैं तो सावन में ये उपाय करें गृह-क्लेश से छुटाकारा पाएं।

1 – पूरे सावन माह घर मेें यदि प्राण-प्रतिष्ठित शिवलिंग है तो घर पर अन्यथा किसी शिव मंदिर में जाकर अभिषेक करें। ‘‘ऊँ नमः शंभवाय च मयो भवाय च नमःशंकराय च मयस्कराय च नमः शिवाय च शिवतराय च।’’ मंत्र का जाप करते हुए पहले शिवलिंग पर शुद्ध जल अर्पित करें, फिर मंत्र पढते हुए ही पंचामृत से अभिषेक करें, मंत्र जाप करते हुए मौली चढाएं, जनेउ पहनाएं, केसर व चंदन का तिलक करें। नैवेद्य फल आदि अर्पित करें। यह सब करते हुए उपरोक्त मंत्र का जाप भी करते रहें।

2 – सावन के सभी सोमवार को गृहलक्ष्मी यानी परिवार की प्रधान स्त्री प्रातः जल्दी उठे और सूर्योदय से पूर्व दो मुट्ठी चावल पकाएं और फिर इन्हें ठंडा होने दें। ठंडा हो जाने के बाद चावल में घी, चीनी, मिलाएं। अब रात की बची हुई एक रोटी पर इन चावलों को रख दें। ये चावल घर के बाहर जाकर किसी राह चलती गाय को खिलाएं और उसे नमस्कार कर घर लौट आएं। सावन के हर सोमवार को यह प्रयोग करें। ध्यान रखना है कि यह कार्य सूर्योदय से पूर्व हो, प्रातः उठने से लेकर चावल पकाने, उसे गाय को खिलाने तक मौन रहें। गाय सडक पर चलती हो, पालतू न हो, बिना क्रम टूटे सावन के सभी सोमवार को ऐसा करना है। परिवार में प्रेम-पूर्ण वातावरण बनेगा। झगडे व विवाद स्वत धीरे-धीरे समाप्त हो जाएंगे।