Uncategorized

मनुष्य की आदत बता देती हैै किस दशा से पीड़ित है जातक

शरीर को खुजलाने की आदत-

कुछ लोग सामान्य से अधिक शरीर में खुजली करते रहते हैं। कभी बालों में कभी शरीर में खुजली करते रहते हैं। इस स्थिति में समझना चाहिए कि जातक का केतु अशुभ प्रभाव में हैं और व्यक्ति को केतु के उपाय करने से लाभ होगा। उपाय न करने की स्थिति में केतु की अशुभता बढ़ती जाती है।

बैठे-बैठे पैर हिलाना –

कुछ लोगों को बैठे-बैठे पैर हिलाने की आदत होती हैं या जैसे ही व्यक्ति बैठता हैं उसके पैर हिलने लगते हैं। ऐसे में अनायास ही हम कह उठते हैं कि पैर हिलाना बंद करो। इस विषय में ज्योतिष शास़्त्र कहता है कि जो व्यक्ति ऐसा करता हैं उस व्यक्ति की कुंडली में बुध और शनि दोनों ही अशुभ रूप में स्थित होते हैं। इस प्रकार की समस्या के समाधान के रूप में शनि के उपाय करने लाभकारी रहता है।

स्मरण शक्ति का कमजोर होना –

कई बार ऐसा होता हैं कि बहुत सोचने पर भी हमें कोई बात याद नहीं आती है। बार-बार प्रयास करने पर भी किसी का नाम, वस्तु का नाम या ऐसे ही कोई परेशानी बनी रहती हैं। ऐसा लगता हैं कि अभी तो याद था, अब याद नहीं हैं या फिर कुछ शब्दों के उच्चारण में दिक्कतें आती हैं, बोलने में अटकना या तुतलाना भी कुछ इसी तरह की समस्या है। इस तरह की किसी भी दिक्कतों से गुजर रहे व्यक्तियों को अपनी कुंडली किसी योग्य ज्योतिषी से दिखानी चाहिए। कुंडली का विश्लेषण करने के बाद ही उपयुक्त उपाय करने लाभकारी रहते हैं।

व्यर्थ की बातों को समय देना –

कुछ लोगों की यह आदत होती हंै कि वे बेवजह दूसरों की बातों में अपनी राय देने लगते हैं। ऐसे में लोग अपने लिए और दूसरों के लिए परेशानियां खड़ी करते हैं। सामाजिक स्तर पर इस वजह से उन्हें अपमानित भी होना पड़ता है। दूसरों के लिए परेशानी खड़ी करने की उनकी मंशा नहीं होती परंतु आदतन वह ऐसा करते हैं। ऐसे लोगों की कुंडली का अध्ययन करने पर यह देखा गया हैं कि ऐसे व्यक्ति का गुरू अशुभ ग्रहों के प्रभाव में होता है।